What is Podcasting in Hindi| Beginners Guide Step-By-Step

Image 1

What is Podcasting in Hindi? 

Podcasting किसी भी ऑडियो फाइल को इंटरनेट के द्वारा सर्च सर्च इंजन या किसी भी माध्यम से लोगो तक पहुंचने का एक तरीका है। पॉडकास्टिंग एक ऑडियो फाइल होती है जिसे हम अक्सर MP3 के प्रारूप में डाउनलोड कर सकते है। एक बार Podcast डाउनलोड करने के बाद इसे कही भी कभी भी सुना जा सकता है। एवं Portable Device जैसे की iPod या Portable Media Player(PMP) or a Personal Digital Assistance (PDA) में transfer किया जा सकता है।

Content Marketing के बहुत सारे अलग-अलग तरिके होते है। रचनाकारों के पास विभिन्न प्रकार के विकल्प मौजूद है जैसे – Blog Post, visuals, Social Media Update, SlideDecks इत्यादि। और Podcasting इसमें महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Podcasting आने वाले दौर में Content Marketing का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होने वाला है। अभी तक पॉडकास्टिंग का प्रचलन इतना ज्यादा नहीं है लेकीन आज के दौर को देखते हुए यह अंदाजा लगाना बहुत आसान है की आने वाला समय पॉडकास्टिंग का होने वाला है।

और ऐसा भी हो सकता है की अभी पॉडकास्ट पर की गई मेहनत की अपेक्षा काम लाभ हो लेकिन आने वाले समय में जब पॉडकास्टिंग ब्लॉग्गिंग की तरह उचाईयो पर होगा तो उस वक़्त आपको इस मेहनत का कई गुना लाभ मिलेगा।

Podcasting क्यों सुरु करनी चाहिए?

तो सायद आपने इससे पहले पॉडकास्टिंग के बारे में कही सुना होगा, या फिर हो सकता है की आपने कुछ एक पॉडकास्ट सुने भी हो। लेकिन आपने स्वयं अपने लिए इसे अभी तक सुरु नहीं किया होगा। क्या मैं सही कह रहा हु? आपकी तरफ से सायद इस प्रश्न का जवाब हां! में होगा?

तो क्या ”हां!” केवल आपका जवाब ही है? जी नहीं! आपकी तरह बहुत सारे अन्य लोग भी है जो इसे सुरु करना चाहते है मगर अभी तक नहीं किया?
लेकिन अब मैं आपको कुछ ऐसे आकड़े बताने जा रहा हु जिसे जानने के बाद आप इसे सुरु किये बिना नहीं रहोगे।

U.S. में लगभग 51% व्यस्क लोग पॉडकास्ट सुनते है। यह अपने आप में एक अच्छा आकड़ा है, और हर रोज इन आकड़ो में एक वृद्धि देखने को मिलती है।

उन आकड़ो को जान्ने से पहले मेरा आपसे एक प्रश्न है की क्या आप ब्लॉग्गिंग भी करते है? अगर हां! तो आप भली-भांति जानते होंगे की किसी भी कीवर्ड को रैंक कराने के लिए आपको कितनी मेहनत और रिसर्च करनी पड़ती है?

लेकिन पॉडकास्टिंग के लिए वर्तमान में ऐसा नहीं है। पुरे इंटरनेट पर लगभग 1 Billion ब्लॉग है, पुरे संसार की जनसँख्या 7/8 Billion। इसीलिए 7/8 लोगो के लिए 1 ब्लॉग है। इसीलिए किसी भी कीवर्ड पर आपको एक अच्छा-खासा कॉम्पिटशन मिलता है जिससे की रैंक करना बहुत मुश्किल हो जाता है।

इसके विपरीत इंटरनेट पर लगभग 7,00,000 पॉडकास्ट मौजूद है, इसका मतलब लगभग 10,000 लोगो के लिए केवल एक पॉडकास्ट। तो समझ सकते है की यहां पर्तिस्पर्धा कितनी कम है।

इन आकड़ो के अनुसार आप खुद देख सकते है की पॉडकास्टिंग ब्लॉग्गिंग के मुकाबले लगभग 1400 गुना कम पर्तिस्पर्धा का क्षेत्र है। जहा वर्तमान में काम करना भविष्य के लिए बहुत फायदेमंद होगा।

तो ऐसा क्यों की आने वाला समय पॉडकास्टिंग का होगा?

जैसा की हमे अगर कोई भी जानकारी इंटरनेट से अगर लेनी हो तो हमे उसके लिए पढ़ना पड़ता है या देखना पड़ता है जो की हर जगह संभव नहीं होता या हम उसे हर जगह पढ़ने में सक्ष्म नहीं होते तो ऐसे में अगर हमे एक ऑडियो फाइल मितली है तो हम उसे पढ़ने के बजाय सुन सकते है। जो की एक अनपढ़ भी सुन सकता है और समझ सकता है। और हर किसी के पास इतना समय नहीं होता की वह उस चीज को पढ़े। इसीलिए पॉडकास्टिंग एक बहुत ही अच्छा और सुलभ साधन होने वाला है।

पॉडकास्ट एक बढ़ती प्रवृति है जो आने वाले समय में इंटरनेट पर अपना वजूद बनाये रखने के लिए बेहद जरुरी है। तो क्या आपने भी इसे शुरू करने के बारे में विचार किया है? अगर हां! तो चलिए जानते है एक बहुत ही आसान भाषा में What is Podcasting in Hindi?

पॉडकास्टिंग कैसे शुरू करे?

पॉडकास्टिंग कैसे शुरू करे? यह सवाल हर किसी का होता है जो इसे शुरू करने के बारे में सोचता है। केवल यही नहीं बल्कि हम जो कार्य शुरू करते है तो उसके लिए हमारा सबसे पहला यही सवाल होता है की कैसे शुरू करे? तो फ्रेंड्स इसके लिए आपपको चिंतित होने की कोई आवस्यकता नहीं है।

क्योकि इस आर्टिकल के द्वारा मैं(Sumit Sheoran) आपको शुरू करने से लेकर अंत तक हर जानकारी प्रदान करूँगा। इसे हम Step-By-Step समझने की कोसिस करते है। तो सबसे पहला

पॉडकास्ट शुरू करने से पहले कुछ समस्याए –

किसी भी कार्य को सुरु करने से पहले हमे बहुत सारी समस्याओं का सामना करना होता है। फिर कही वह ब्लॉग्गिंग, यूट्यूब या पॉडकास्टिंग ही क्यों न हो। हर किसी के कुछ सामन्य से प्रश्न या समस्याए होती है जैसे की –

  • मेरी आवाज सुनने लायक नहीं है।
  • ऑडियो फाइल को रिकॉर्ड करने एवं उसे इंटरनेट पर उपलोड करने के लिए मेरे पास पैसे और तकनीकी कौशल नहीं है।
  • जब मैं किसी भी टॉपिक या विषय पर बोलने की शुरुआत करता हु तो मेरे दिमाग में उससे सम्बंधित कुछ भी विचार नहीं आते।
  • पॉडकास्टिंग के लिए अच्छे उपकरणों को खरीदना मेरे बजट से बाहर है।

ये वे प्रश्न है जो शुरुआत में लगभग हर कोई इनका सामना करता है। भूतकाल में मैंने भी किया है, और सायद आपने भी कभी किया होगा। तो दोस्तों इस आर्टिकल में मैं आपको हर उस सवाल का जवाब प्रदान करने की कोसिस करूँगा जो पॉडकास्टिंग सुरु करने से पहले जानना बहुत जरुरी है।

किसी भी पॉडकास्ट की गुणवत्ता उस पॉडकास्ट के रिकॉर्डिंग के उपकरणो पर निर्भर करती है। पॉडकास्ट सुरु करने के लिए जरुरी नहीं की आप बहुत महंगे सेटअप के साथ शुरुआत करे।

बल्कि आप एक स्मार्टफोन से भी Podcasting की शुरुआत कर सकते है।

Image 2

लेकिन इससे आप एक बहुत अच्छे पॉडकास्ट रिकॉर्ड करने की उम्मीद न रखे क्योकि यह एक फ़ोन कॉल रिकॉर्डिंग की तरह मालूम होता है। सुनने में यह बिलकुल एक फ़ोन कॉल रिकॉर्डिंग की तरह ही लगता है क्योकि एक सामान्य स्मार्टफोन में माइक्रोफोन उतनी अच्छी क्वालिटी का नहीं होता जितना की एक प्रोफेशनल माइक्रोफोन होता है।

लेकिन फिर भी शुरुआत में अगर आपके पास ज्यादा बजट नहीं है तो भी आप स्मार्टफोन की सहायता से Podcasting शुरु कर सकते है।

और अगर आप एक बहुत अच्छी गुणवत्ता का पॉडकास्ट तैयार करना चाहते है तो आपको एक छोटी रकम या पूंजी को निवेश करने की आवस्यकता है। जिससे की आप एक अच्छी क्वालिटी का पॉडकास्टिंग Set-up ले सकते है।

तो शुरु करने के लिए –

एक माइक्रोफोन खरीदे –

पॉडकास्ट की गुणवत्ता एक माइक्रोफोन के साथ शुरु और समाप्त होती है। आप जितना अच्छा माइक्रोफोन अपने पॉडकास्ट के लिए खरीदते है पॉडकास्ट की Quality उतनी ही बेहतर हो जाती है। जब आप WNYC , NPR , एवं ESPN जैसे अच्छी क्वालिटी के Equipment खरीद लेते है तो आपकी पॉडकास्ट की Quality निसंदेह बहुत अच्छी होगी।

USB Microphone – जैसे की ATR21000 के साथ लगभग 50/60 Dollar से शुरु हो जाता है। और भी अधिक जानकारी के लिए आप पॉडकास्ट इक्विपमेंट से पढ़ सकते है, जिसमे की एक Dynamic Microphone को ज्यादा महत्व दिया जाता है। इसमें आप जहा कही भी रिकॉर्डिंग करते है उसके आस-पास की अवांछित आवाज को हटाकर आपकी आवाज को स्पस्ट रूप से सुनने योग्य बना देता है।

इसके लिए एक अन्य विकल्प यह भी हो सकता है की आप एक हैडफ़ोन /माइक्रोफोन हेडसेट भी ले सकते है। इससे आप एक पुरे ग्रुप के साथ पॉडकास्ट की रिकॉर्डिंग कर सकते है। जो की आपको पहले से लगभग आधी कीमत में मिल सकता है।

Recording, Uploading And Promoting

इससे पहले की आप पॉडकास्ट शुरु करे आपको कुछ एक जरुरी बातो का पता होना बहुत आवश्य्क है, जैसे की –

  1. Formet :- की आपका पॉडकास्ट का काल्पनिक आकर कैसा होने वाला है?
  2. Content :- की आप पॉडकास्ट में किस विषय पर चर्चा करने जा रहे है?

आपका पॉडकास्ट कई प्रकार का हो सकता है – One-Man-Shows, Cohosts, Guests, Call in etc, Metafilter के संस्थापक Matt Haughey जिन्होंने पॉडकास्टिंग पर सैकड़ो घंटे बिताये है, उन्होंने एक लम्बे अनुभव के बाद बताया है की आपके पॉडकास्ट में कम से कम 2 या 3 होस्ट होने चाहिए।

I listen to a lot of podcasts and the most typical format is 2 or 3 hosts and sometimes one guest. I’ve never subscribed to a single-person podcast before because I’ve yet to find a single-person-talking podcast that is interesting enough to stick with… Two or three people chattering to each other is the most common format but it’s possible to take it too far.

Stick to 2-3 people on your show.

किसी भी पॉडकास्टिंग बहुत बेहतर बनाने के लिए रिकॉर्डिंग सुरु करने से पहले आपको यह मालूम होना चाहिए की आपके पॉडकास्ट की रूप रेखा क्या होने वाली है।

इसके लिए पहले से ही अच्छा कंटेंट तैयार करने की आवस्य्क्ता है ताकि श्रोताओ को एक बेहतर जेकरि मिल सके।

और यदि आपने इससे पहले कोई भी पॉडकास्ट तैयार नहीं किया है तो आप एक आध बार रिकॉर्डिंग से पहले अभ्यास भी कर सकते है। ताकि यूजर एक्सपीरियंस अच्छा हो सके।

यहां Voices.com के द्वारा एक नमूना भी दिया गया है की किस तरह से आप अपना पॉडकास्ट तैयार कर सकते है। यदि आप ऐसा फॉर्मेट तैयार करते है तो वाकई आपका पॉडकास्ट प्रोफेशनल होने वाला है। श्रोताओ के लिए एक बेहतर क्वालिटी उत्पन्न करने वाला है।

  • सबसे पहले परिचय दे(आप कौन है, किस विषय पर चर्चा करने जा रहे है ) : 30-60 second
  • विषय 1: 3 minutes
  • विषय 2: 3 minutes
  • Interlude (Music or Breake): 30 second
  • विषय 3: 3 minutes
  • विषय 4: 3 minutes
  • समापन टिपण्णी (श्रोताओ का धन्यवाद, मेहमानो का धन्यवाद, अगले पॉडकास्ट के विषय पर चर्चा) : 2 minutes
  • Closing Music (Intro Music जैसा ही जिंगल): 1-2 minutes

एक और आसान वास्तविक रिकॉर्डिंग करने का तरीका यह भी हो सकता है की आप स्काइप कॉल रिकॉर्डिंग कर सकते है। आप स्काइप के द्वारा अपने होस्ट्स या guests को कॉल कर सकते है। और किसी विशेष कॉल रिकॉर्डिंग सॉफ्टवेयर के जरिये रिकॉर्ड कर सकते है।

ऐसा करने के बाद आप किसी अन्य सॉफ्टवेयर की सहयता से उसमे म्यूजिक, इंट्रो जोड़ सकते है और सम्पादित कर सकते है।

और यदि आप Macbook का उपयोग करते है तो ये आपके लिए है –

यदि आप PC उपयोग करते है तो

  • Pamela से कॉल रिकॉर्ड कर सकते है। (0$)
  • Audacity से edit कर सकते है।(0$)

अब जब आपकी रिकॉर्डिंग और एडिटिंग पूरी हो जाती है तो आप इसे बहुत से अन्य प्लटेफोर्म्स पर अपलोड कर सकते है। यहां कुछ बड़े और अच्छे प्लैटफॉर्म्स मैं आपको बताने जा रहा हु –

Podcasts को अपलोड करने के लिए अच्छी hosting sites है जैसे की – Libsyn, Anchor और Transister

ये आपको आपका RSS फीड भी तैयार करेंगे ताकि आप इसे Apple Podcast एवं spotify जैसे players पर भी भी सबमिट कर सके।

वेबसाइट ट्रैफिक कैसे बढ़ाये?

वेबसाइट कैसे बनाये?

Podcast से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण तथ्य

किसी भी पॉडकास्ट को बेहतर बनाने के लिए बहुत सारी बातो का ख्याल रखना पड़ता है। क्योकि किसी भी पॉडकास्ट की Length और Frequency उस पॉडकास्ट के सफल होने और न होने पर काफी प्रभाव डालते है। भले ही सायद यह आपको न दिखाई दे लेकिन अप्रत्यक्ष रूप से मत्वपूर्ण भाग होता है।

एक Podcast की सामान्य Length कितनी होनी चाहिए

एक पॉडकास्टिंग और ऑनलाइन रेडियो साइट stitcher के मुताबिक कोई भी श्रोता एक पॉडकास्ट के साथ लगभग 18-22 minutes तक जुड़ा रहता है। TED Talks में भी 18 minutes का अधिकतम समय होता है। क्योकि कोई भी श्रोता एक ही विषय या पॉडकास्ट पर अपने आपको कितने भी समय तक रोक नहीं सकता है। एक निश्चित समय के बाद उसका ध्यान उस विषय से भटकना सुरु हो जाता है।

संक्षिप्त

इस आर्टिकल के शीर्ष में मैंने कई विषयो पर चर्चा की जैसे की ”पॉडकास्टिंग क्या है?” और उसके बाद पॉडकास्टिंग सुरु करने से सम्बंधित शुरुआत में आने वाली कुछ कठिनाइयों की भी चर्चा की है।

यह इस विषय का महत्वपूर्ण बिंदु भी है क्योकि पॉडकास्टिंग के लिए ये समस्याए बहुत ज्यादा होती है जैसे की – ‘ मेरी आवाज बिलकुल भी सुनने योग्य नहीं है, मुझे टेक्निकल जानकारी नहीं है, इत्यादि। ‘ तो ऐसा क्या केवल आप के साथ ही होता है? जी नहीं!
यह वह समस्या है जो हर किसी के साथ होती है।

एक साधारण पॉडकास्ट में ज्यादा एडिटिंग की आवस्यकता नहीं होती जो की एक थोड़ी बहुत जानकारी से भी संभव है।

अंत में अगर आप अपने पॉडकास्ट उपकरणों के लिए अधिक खर्च नहीं सकते तो भी आप एक साधारण स्मार्टफोन से इसे सुरु आकर सकते है।

उम्मीद करता हु की आपको (What is Podcasting in Hindi) से जुड़े उन सभी सवालों का जवाब इस आर्टिकल में मिल गया होगा जो आप जानना चाहते थे। और अगर आओ इसी तरह की डिजिटल मार्केटिंग से जुडी और भी अच्छी जानकारिया जानना चाहते है तो sumitsheoran.com पर जाकर आप उन सभी पोस्ट्स को पढ़ सकते है।

Leave a Comment