Digital Marketing Modules List or Modules of Digital Marketing

Digital Marketing, यह एक ऐसा नाम है जो आज कल के बिज़नेस का आधार बन चूका है। किसी भी बिज़नेस को ग्रो करने में आज Digital Markeitng जितना अहम रोल किसी भी अन्य चीज का नहीं रहा है। बहुत से digital marketing modules है जिनके माध्यंम से यह सब कुछ संभव है।

इस समय जब भी कोई आपने नया बिसनेस सुरु करता है तो उससे पहले वो उसे डिजिटल मार्केटिंग से जल्दी ग्रो करने के बारे में अवश्य सोचता है। जो की बहुत आवश्यक भी है।

यह एक ऐसा माध्यम है जो किसी भी बिसनेस को सामान्य की बजाय बहुत तेज़ी से बढ़ाता है और ट्रडीशनली तरिके के बजाय बहुत ज्यादा ROI(Return On Investment) देता है।

लेकिन इसे अपने बिज़नेस के लिए लागु करने के बहुत से माध्यम है, बहुत से ऐसे डिजिटल चैनल है जहा से आप इससे फायदा ले सकते है। जैसे सोशल मीडिया चैनल्स या सर्च इंजिन्स। लेकिन यह आपके बिज़नेस पर निर्भर करता है की आप कौन सा तरीका किस तरह से अपनाना चाहते है।

Image 1

इसके लिए आप एक प्रोफेशनल की मदद भी ले सकते है। जो की इस काम में आपकी बेहतर ढंग से मदद कर सकता है। और कम बजट में ज्यादा फायदा पंहुचा सकता है।

So, I am Sumit Sheroan, A Digital Marketing Professional. और आज इस टुटोरिअल में हम के बारे में चर्चा करने वाले है।

तो चलिए अब हम जानते है Digital Marketing Modules के बारे में और जिन्हे हम डिजिटल मार्केटिंग का आधार भी कह सकते है।

These are the main Digital Marketing Modules –

  1. SEO (Search Engine Optimization)
  2. SEM (Search Engine Marketing)
  3. SMM (Social Media Marketing)
  4. Email Marketing
  5. Content Marketing
  6. Pay-Par-Click Advertising
  7. Affiliate Marketing

SEO (Search Engine Optimization) –

Image 2

एक अनुमान लगाइये की प्रत्येक दिन पुरे इंटरनेट पर कितने ब्लॉग पोस्ट प्रकाशित किये जाते है?

क्या कोई अनुमान है? अगर नहीं?

पुरे इंटरनेट पर ब्लॉग प्रकाशित संख्या का कहना मुश्किल है लेकिन अगर हम एक अकेले वर्डप्रेस की बात करे तो केवल वर्डप्रेस पर हर रोज दो मिलियन से अधिक पोस्ट प्रकाशित किये जाते है। जो की हर सेकंड में लगभग 24 ब्लॉग पोस्ट होती है।

यानि की जब आप ऊपर लिखित दो लाइन पढ़ रहे थे तब तक लगभग 250 पोस्ट हो चुकी थी।

तो ऐसे में अगर हम पुरे इंटरनेट की बात करे तो यह आकड़ा बहुत ज्यादा हो जाता है।

तो इसके चलते फिर सवाल यह आता है फिर यह कौन तय करता है की कौन सी पोस्ट सबसे ऊपर रहेगी या कौन सी पोस्ट किस नंबर पर रहेगी।

यह चीज गूगल खुद तय करता है। SEO के आधार पर ही यह तय होता है की कौन सी पोस्ट यूजर फ्रेंडली है मतलब की किस पोस्ट में यूजर को अच्छी जानकारी प्रदान की जा रही है।

किसी भी पोस्ट को लिखने के बाद उसका SEO करना होता है ताकि वो सर्च इंजन के अनुकूल कार्य कर सके।

यहां अगर हम SEO की ही बात करे तो महीने में लाखो बार SEO शब्द गूगल पर सर्च किया जाता है।

लेकिन वास्तव में SEO का क्या मतलब है?

क्या यह किसी पोस्ट के डिज़ाइन से सम्बंधित है? या लिखने के तरिके से सम्बंधित है? आखिर क्या है?

परिभाषा SEO किसी भी पोस्ट को किसी भी सर्च इंजन में बिना कोई पैसा खर्च किये हाई रैंकिंग दिलाने की एक कला है। या फिर कहे की बिना कोई पैसा खर्च किये अपनी वेबसाइट पर आर्गेनिक ट्रैफिक लेने की एक कला है।

हम किसी भी एक पर्टिकुलर कीवर्ड का SEO करते है। ताकि जब भी कोई यूजर उस पर्टिकुलर कीवर्ड को सर्च इंजन में सर्च करे तो तो हमारा कीवर्ड सबसे ऊपर दिखाई दे। तो ऐसे में सबसे ऊपर व्ही कीवर्ड आता है जिसने अपनी पोस्ट का सबसे अच्छा SEO किया होता है।

SEO वह ताकत है जो किसी भी कीवर्ड को सर्च इंजन में रैंक करवा सकता हैं। अगर आपका कंटेंट ठीक ठाक लेकिन अगर आपने उसका SEO बहुत ही अच्छे ढंग से किया है तो वह आपके कीवर्ड के सबसे ऊपर आने के चांस बढ़ जाते है।

अब जानते है SEO करने की टेक्निक्स –

SEO को करने की तीन टेक्निक्स होती है।

1. White Hat SEO           2. Black Hat SEO           3. Grey Hat SEO

White Hat SEO –

Image 3

White Hat SEO वह है जो गूगल की अल्गोरिथ्म्स या रूल्स के अनुरूप है। वाइट हैट ब्लैक हैट seo के बिलकुल विपरीत है।

यह किसी भी प्रकार से गूगल की टर्म्स और कंडीशन को फॉलो नहीं करता। वाइट हैट किसी भी वेबसाइट की अखंडता को बनाये रखने के लिए किया जाने वाला अभ्यास है। इसमें गूगल की टर्म्स और कंडीशंस को विशेष रूप से ध्यान में रखा जाता है।

इसमें किसी भी कीवर्ड को रैंक करने के लिए जो रणनीति बनाई जाती है वह गूगल की शर्तो को पूरी तरह से ध्यान में रखते हुए बनाई जाती है।

यह वाइट हैट seo के कुछ एक उद्धरण है, जैसे –
अपनी वेबसाइट को नेविगेट करने के लिए आसान बनाना।
वेबसाइट का मोबाइल फ्रैंडलीय होना।
वेबसाइट की लोडिंग स्पीड को को बढ़ाना या लोडिंग समय को काम करना।
अच्छी गुणवत्ता से परिपूर्ण सामग्री एवं सेवाए प्रदान करना।
अच्छे कीवर्ड से समृद्ध मेटा टैग का इस्तेमाल करना। इत्यादि।

Black Hat SEO –

Image4

Black Hat टेक्निक में ज्यादतर किसी भी कीवर्ड को सर्च इंजन के SERP पर रैंक करने के लिए अपनाई गई गलत नीतिया है जो उस सर्च इंजन की टर्म्स और कंडीशन को पूर्ण रूप से फॉलो नहीं करती।

Grey Hat SEO –

Image 5

Grey Hat SEO के नाम से ही पता चलता है वह ना तो वाइट हैट जैसा है और ना ही बिलकुल ब्लैक हैट जैसा। सायद आप नहीं समझे तो कहने का मतलब है की इसमें आप इसमें पूरी तरह से ब्लैक हैट की प्रणाली नहीं अपना रहे है।

लेकिन अपने कीवर्ड को रैंक करने के लिए थोड़ी अलग तरिके की मदद ले रहे है जो की सायद यूजर के लिए अच्छी नहीं हो सकती। लेकिन यह निर्भर करता है की आप किस चीज के लिए इस तकनीक का प्रयोग कर रहे है।

जैसे के गूगल ने कहा है की आप लिंक बनाने के लिए अतिथि ब्लॉग्गिंग या गेस्ट ब्लॉग्गिंग का सहारा नहीं ले सकते।
लेकिन फिर भी ये चीज काम करती है। तो ऐसा में फर्क पड़ता है आप इसका इस्तेमाल किस तरह से करते है। बहुत से लोगो का मानना है की काम नहीं करता और बहुत से ऐसे मत भी है जो मानते है की यह चीज काम करती है।

और अधिक जान्ने के लिए आप यहां Grey Hat SEO विचरण कर सकते है।

SEO करने के दो तरिके होते है।

1. On-Page SEO               2. Off-Page SEO 

SEM (Search Engine Marketing) –

सर्च इंजन मार्केटिंग एक डिजिटल मार्केटिंग रणनीति है जिसके माध्यम से SERP (Search Engine Result Page) पर किसी भी वेबसाइट की दृश्यता बढ़ाने के लिए सर्च इंजन को पैसो के द्वारा पेड मार्केटिंग की जाती है।

सर्च इंजन मार्केटिंग का प्रयोग ज्यातर बिज़नेस को जल्दी ग्रो करने के लिए या कंपनियों के द्वारा ज्यादा किया जाता है। जैसे की यहां निचे चित्र में एक उदाहरण है –

Image 6

जैसा की ऊपर चित्र में देख पा रहे है यहां सबसे पहला रिजल्ट के तोर पर गूगल द्वारा एक advertisement दिखाई जा रही है। एक बात गौर करने वाली यह है की यहां पर सबसे पहले नंबर पर आर्गेनिक रिजल्ट में भी गूगल का कीवर्ड प्लानर ही आ रहा है इसके चलतेफिर भी कीवर्ड प्लानर द्वारा यह advertisement की हुई है।

तो अब सवाल यह आता है की ऐसा क्यों?

तो फ्रेंड्स जैसा की मैंने ऊपर भी बताया की गूगल या किसी भी सर्च इंजन में अपनी वेबसाइट या एजेंसी को अधिक से अधिक ख्याति प्रदान करने के लिए ही सर्च इंजन मार्केटिंग की जाती है।

तो यह इनका मुख्य लक्ष्य है की जब भी कोई यूजर यह आए तो उसे हर जगह यही कीवर्ड नजर आना चाइये जिससे के उस पर एक अलग तरह का प्रभाव पड़ेगा तो उसका विश्वास इसके प्रति बढ़ेगा। और अधिक जान्ने के लिए आप Search Engine Marketing पर विजिट कर सकते है।

Social Media Marketing –

Image6

Social media marketing का इस्तेमाल आजकल किसी भी ब्रांड बनाने या अन्य कोई ऑफलाइन बिज़नेस को ग्रो करने के लिए सबसे उत्तम साधन माना जाता है।जैसा की आजकल आप देख रहे है स्मार्टफोन्स का बहुत अच्छा दौर है जिसमे की स्मार्टफोन्स निर्माता कम्पनिया सोशल मीडिया का बहुत अच्छा फायदा उठा रही है। क्योकि यहां आपको बहुत ज्यादा मात्रा में ट्रैफिक कि प्राप्ति होती है जिससे कि आपके बिज़नेस के ग्रो होने के चांस अन्य प्लैटफॉर्म्स से अधिक हो जाते है।

सोशल मीडिया प्लैटफॉर्म्स जैसे कि Facebook, Instagram, Whatsapp, Truecaller, Wechat, LinkedIn, Twitter, TikTok, Tumblr, Snapchat, Skipe, इत्यादि बहुत सारे प्लैटफॉर्म्स है, जिनके बारे में शायद आप जानते भी नहीं होंगे लेकिंन लोग इनकी सहयता से लाखो कि कमाई कर रहे है। क्या आप जानते है कि लोग Truecaller पर भी विज्ञापन करके आपने ब्रांड को बढ़ावा दे रहे है।

अब मैं आपको एक उधारण के साथ समझने कि कोसिस करता हु। अगर हम बात करे पुरे संसार कि जनसंख्या कि तो वह लगभग 7.8 बिलियन है लेकिन केवल फेसबुक पर लगभग 4 बिलियन Users है, जिसमे से लगभग से तक डेली एक्टिव यूजर है। इसी बात से आप अंदाजा लगा सकते है कि सोशल मीडिया का यह प्लेटफॉर्म कितना पावरफुल है।

Image7

फेसबुक पर बिज़नेस ग्रो करने का एक नहीं बल्कि बहुत सारे तरिके है जिनमे से कुछ को आप फ्री में आजमा सकते है तथा कुछ में पैसे कि जरुरत होती है लेकिन यहां आपको बहुत कम पैसे में ज्यादा फायदा होता है।

यदि हम फ्री कि बात करे तो आप अपने बिज़नेस से सम्बंधित फेसबुक पेज बनाकर या फिर आप फेसबुक ग्रुप बनाकर ग्रो कर सकते है। लेकिन इसमें आपको थोड़ा समय लग सकता है।

यदि आपका कोई बिज़नेस नहीं फिर भी आप डायरेक्ट फेसबुक से बहुत अच्छे खासे पैसे कमा सकते है। यदि आप जानना चाहते की फेसबुक से पैसे कैसे कमाए, उसके लिए यहां विजिट करे Facebook se paise Kaise Kamaye

इसके विपरीत आप Facebook Ads Campaign चलाकर भी ग्रो कर सकते है लेकिन इसके लिए आपको कुछ पैसा खर्च करना पड़ता है। लेकिन यह आपको तुरंत रिजल्ट प्रदान करता है। यह चीज इस बात पर भी निर्भर करती है कि आपकी Ads Campaign कि रणनीति कैसी है। इसीलिए आप एक अच्छे डिजिटल मार्केटर से Ads Campaign चलाने में मदद ले तो बेहतर रहता है।

Email Marketing –

Email Marketing किसी भी प्रकार के ग्राहकों या लोगो को किसी भी चीज के बारे में उजागर करने के लिये भेजा जाने वाला एक सन्देश है जो की डिजिटल मार्केटिंग का ही एक हिस्सा है।

Image8

किसी भी प्रकार के ग्राहकों या लोगो को किसी भी चीज के बारे में उजागर करने के लिये भेजा जाने वाला एक सन्देश है जो की डिजिटल मार्केटिंग का ही एक हिस्सा है।

यह ज्यादातर आम लोगो की बजाय बड़ी कम्पनियो के द्वारा अधिक प्रयोग किया जाता है। क्योकि यह चीज व्यक्ति या बिज़नेस के लिए ज्यादा फायदेमंद नहीं होती। इसका प्रयोग अधिकतर ऑनलाइन सर्विसेज प्रदान करने जैसे कंपनी अधिक करती है क्योकि इनके कस्टमर ज्यादा सक्रिय होते है जिससे के इन्हे ज्यादा फायदा भी होता है।

इसे करने के लिए बहुत जरुरी है की आपके पास आपके बिज़नेस से सम्बंधित लोगो की एक ईमेल सूचि हो। ऐसा नहीं हो सकता की आपके बिज़नेस किसी भी प्रकार का है और आप किसी भी व्यक्ति को ईमेल मार्केटिंग के द्वारा सम्बोधित करे। इससे आपको फायदे के बजाय नुकशान ज्यादा हो सकता है।

यहां मै आपको एक उदाहरण के माध्यम से समझाने की कोसीस करता हु। मान लेते है की एक वेबसाइट डिजाइनिंग कंपनी है जो की अपने बिज़नेस को ग्रो करना चाहती है। तो ऐसे में अगर वह ईमेल मार्केटिंग करना चाहती है तो इसके लिए उसके पास उन लोगो की ईमेल सूचि का होना बहुत जरुरी है जो किसी न किसी तरह से वेबसाइट जे जुड़े है। या फिर उनकी इस तरह के काम में रूचि है।

ऐसे में अगर वह कंपनी उन लोगो को ईमेल भेजेंगे तो वहा चांस बनता है की कस्टमर उनसे कॉन्टेक्ट करना चाहे। इसके बजाए अगर वह कंपनी उन लोगो के पास अपना ईमेल भेजेंगे जो की वेबसाइट से किसी भी प्रकार से जुड़े हुए नहीं है तो जाहिर सी बात है उस काम में किया गया हर प्रयाश असफल ही होगा।

इसीलिए ईमेल मार्केटिंग के लिए एक email lsit of good audience का होना तो आवश्यक है ही इसके साथ-साथ ईमेल मार्केटिंग करने की एक अच्छी रणनीति का होना भी नितांत आवश्यक है।

जहा इसके कुछ ड्रा बैक है व्ही बहुत सरे फायदे भी है। जैसे की मै बात करू Remaketing की, तो ईमेल मार्केटिंग में रीमार्केटिंग करना बहुत ही आसान और जरुरी है। क्योकि जब हमारे पास पहले से ही प्रॉपर ईमेल लिस्ट है और प्रॉपर ऑडियंस सेट है तो फिर उन्हें रेटार्गेट कारण बहुत ही आसान हो जाता है।

यदि आप ईमेल मार्केटिंग के बारे में और भी गहराई से जानना चाहते है तो यहां Email Marketing पर जाकर और भी गहराई से अध्ययन कर सकते है।

Content Marketing –

Content Marketing भी डिजिटल मार्केटिंग का एक बहुत ही मुख्य स्तम्भ माना जाता है। क्योकि यदि आप जब भी किसी बिज़नेस को ऑनलाइन सेटअप करते है तो उसके बारे में इंटरनेट पर आपके द्वारा कंटेंट प्रोवाइड करना बेहद आवश्य्क है। लेकिन अब सवाल यह आता है कि कंटेंट क्या होता है या फिर कंटेंट कैसा होना चाहिए।

Image9

देखिये दोस्तों कंटेंट का मतलब यह नहीं कि आप एक लम्बी कहानी बनाकर लिख दे या फिर एक बहुत साडी जानकारी को इसी भी ढंग से अपने यूजर के परोस दे।

बल्कि जब भी कोई यूजर उस चीज को सर्च करता है तो उसको वह जानकारी बहुत ही अच्छे ढंग से लिखित एवं सुसज्जित ढंग से आसानी से समज आने योग्य जानकारी मिले।

इसीलिए आपको कुछ ऐसा कंटेंट बनाकर डोलना होगा जो एक यूजर कि आवस्य्क्ता को पूरी तरह से संतुस्ट कर सके। फिर चाहे वह कंटेंट किसी भी प्रकार यानि video, Audio या written कैसा भी हो।

Pay-Par-Click Advertising –

दोस्तों यह भी सर्च इंजन मार्केटिंग से मिलता जुलता है लेकिन इसमें फरक यह है कि जब भी कोई Pay-Per-Click या PPC का उपयोग करता है तो इसमें जब कोई यूजर आपकी Ad देखे गा और उस पर क्लिक करेगा तो इसके लिए आपको पैसा देना होगा। इसमें आप ही तय करते ही कि पर क्लिक कितना पैसा लगते है।

Affiliate Marketing –

Affiliate Marketing को हम बिलकुल साधारण भाषा में कहे तो यह एक तरिके से अन्य लोगो या कंपनी के उत्पादों को बढ़ावा देकर उनसे कमिशन कमाना है। आप जितना ज्यादा उनके उत्पादों को बढ़ावा देंगे आपको उतना ही मुनाफा होगा।

Image10

इसे मैं एक उद्धरण के माध्यम से समझाता हु कि जैसे आपको कभी भी कोई नया उत्पाद लेना होता है चाहे वह आप ऑफलाइन ले या ऑनलाइन लेकिन आप इसे एक बार गूगल पर जाकर जरूर सर्च करते है, तो जब आप सर्च करते है तो आपने देखा होगा कि वह बहुत सारे रिजल्ट्स होते है जिन में से कुछ ऑनलाइन स्टोर्स (फ्लिपकार्ट, अमेज़न इत्यादि) के चित्र सहित रिजल्ट दिखता है और जैसे ही आप उन पर क्लिक करते है तुरंत बाद आप उस ऑनलाइन स्टोर पर पहुंच जाते है।

तो ऐसे में अगर आप वह से कुछ खरीदते है तो आप जिस वेबसाइट के द्वारा यहां आए थे उस वेबसाइट को कमिशन मिलता है जिसे हम एफिलिएट मार्केटिंग के नाम से जानते है।

उम्मीद करता हु दोस्तों Digital Marketing Modules से जुडी यह जानकारी आपको बहुत अच्छी लगी होगी। यदि आप डिजिटल मार्केटिंग या blogging से सम्बंधित और भी अच्छी और महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो यहां sumitsheoran.com वेबसाइट पर विजिट करे।

Leave a Comment